बाला किला अलवर किला राजस्थान | Bala Alwar fort Rajasthan In Hindi

बाला किला अलवर किला राजस्थान | Bala Alwar fort Rajasthan In Hindi


 Bala Alwar fort Rajasthan In Hindi अलवर का किला राजस्थान राज्य के अलवर जिले में स्थित है इस किले को बाला किला के नाम से भी जाना जाता है अलवर का किला बाला किला शहर से लगभग 6 किलोमीटर दूर एक पहाड़ी पर स्थित है इसे हसन खान ने 1550 में बनवाया था

 बाला किला अलवर समुद्र तल से 960 फीट की ऊंचाई पर स्थित है जो 8 किलोमीटर के गहरे में फैला हुआ है

 इसे विशेष रूप से दुश्मन पर फायर करने के लिए यह गोली चलाने के लिए  डिजाइन बनवाया गया था अलवर का किला कायमखानी शैली में बनवाया गया है दुश्मन को गोली मारने के लिए किले की दीवारों में करीब 500 छेद है जिनमें से 10 फुट की तो भी दागी जा सकती है

 बाला किले से अलवर शहर बहुत खूबसूरत दिखाई  देता  है 6 प्रमुख द्वार है जहां जयपुर लक्ष्मणपुर सूरजपोल चांदपोल अंधेरी गेट कृष्णा गेट वाला किले तक पहुंच सकते हैं

 यहां दुश्मन पर नजर रखने के लिए 15 बड़े 51 छोटे गढ़ और और 3359 कंगूर है स्मारक अपने चिनाई वाले फर्श और भव्य संरचनात्मक डिजाइन के लिए प्रसिद्ध है

 अलवर किला बाला किला का इतिहास | Alwar fort Rajasthan History In Hindi

अलवर के किले पर निकुंभ खान ज्यादा मुगलों मराठों जाट राजपूतों का शासन रहा है इस किले का निर्माण हसन खान मेवाती ने 1551 ईस्वी में करवाया था इसके बाद अलवर के लिए पर मुगलों मराठों और जाटों का शासन था 

1775 में कछवाहा राजपूत प्रताप सिंह ने इस किले पर कब्जा कर लिया और साथी अलवर की नींव रखी।

 मुगल बादशाह बाबर ने एक रात के लिए बिताई जबकि जहांगीर वनवास के दौरान 3 साल तक रहा और उस समय उनके इसका नाम सलीम महल रखा किले के जिस कमरे में जहांगीर रुके थे उसे सलीम महल के नाम से भी जाना जाता है 

अलवाड़ी किले की वास्तुकला अलवर का अपनी वास्तु कला के लिए प्रसिद्ध है अंदर के हिस्से को कई हिस्सों में बांटा गया है एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचने के लिए कई ओर से सीढ़ियाँ हैं।

 अलवर का किला राजस्थान के सबसे बड़े किलो में गिना जाता है यह किला कहीं शैलियों में बनाया गया है और किलो की दीवारों पर खूबसूरत शास्त्रों मूर्तियां है

इन खूबसूरत नक्काशी के अलावा, किले में अन्य उल्लेखनीय इमारतें भी हैं जैसे सूरज कुड, सलीम नगर तलाव, जल महल और निकुंभ महल पैलेस।

अलवर के किला क्षेत्र में कई मंदिर है जिसमें कुंभ निकुंभ की कुलदेवी करणी माता हनुमान मंदिर जिसके साथ तो चक्रधारी हनुमान मंदिर सीता राम मंदिर जय आश्रम सलीम सागर सलीम बारादरी शामिल है

  बाला किला अलवर राजस्थान कैसे पहुंचे 

अलवर किले के रेलवे स्टेशन के निकटतम अलवर जंक्शन

 अलवर किले के हवाई अड्डे के निकटतम जयपुर जंक्शन

Post a Comment

Previous Post Next Post